कलश स्थापना के साथ शारदीय नवरात्र का शुभारंभ, घोड़ा पर सवार होकर आएंगी माता, भैंसा पर होगी विदाई

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रवि रंजन कुमार पांडेय

शनिवार को शुभ मुहूर्त में वैदिक मंत्रोच्चारण के बीच कलश स्थापना के साथ ही शारदीय नवरात्र का शुभारंभ हो गया। पहले दिन माता जगदंबे के प्रथम स्वरूप शैलपुत्री माता की पूजा अर्चना की गई। मझौलिया प्रखंड में समस्त देवी मंदिरों में शारदीय नवरात्र भक्ति में माहौल में शुरू हो गया। वैश्विक आपदा कोविड-19 को लेकर प्रशासनिक चेतावनी उपरांत इस वर्ष सोशल डिस्टेंसिंग के बीच माता की पूजा अर्चना की जा रही है। पूजा पंडाल नहीं बने हैं जिसके कारण माता मंदिरों में जाकर श्रद्धालु भक्त माता की आराधना करेंगे।
कलश स्थापना का शुभ मुहूर्त सुबह 6:27 से 10:13 तक विशेष महत्वपूर्ण था। बताते चलें कि नवरात्र पूजन में कलश स्थापना अगर शुभ मुहूर्त में किया जाए तो सबका कल्याण और मंगल होता है। इस बार माता का आगमन घोड़ा पर और विदाई भैंसा पर होगी। कलश स्थापना के साथ ही घरों में देवी मंदिरों में माता की जय कारे गुजरने लगी। माहौल भक्तिमय हो गया है और समस्त प्रखंड माता की आराधना में डूब गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code