मधुबनी – जयनगर / प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के द्वारा सेवा पखवारा।।2. जीविका कैडर संघ का धरना, मांग पूरी न होने पर नीतीश सरकार का विधानसभा चुनाव में करेंगें विरोध

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्ट – मनीष कुमार

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के जन्मदिवस के अवसर पर भारतीय जनता पार्टी के द्वारा सेवा पखवारा 14 सितम्बर से 20 सितम्बर तक मनाने के क्रम में खजौली विधानसभा के जयनगर अनुमन्डलीय अस्पताल में पौधारोपण और गरीबों के बीच भोजन वितरण जैसे कई कार्यक्रम होने के पश्चात आज जयनगर अनुमन्डलीय अस्पताल में फल और बिस्कीट का वितरण मरीजो के बीच किया गया। फल वितरण कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रदेश किसान मोर्चा के क्षेत्रीये प्रभारी राकेश सिंह के द्वारा किया गया।फल वितरण कार्यक्रम के बाद राकेश सिंह ने संबोधन करते हूए कहा कि ‘भारत के यशसवी और लोकप्रीय प्रधानमंत्री मोदी के शासन में देश और बिहार निरंतर विकास के रास्ते पर अग्रसर हैं।पिछले ही दिनो मोदी जी के द्वारा कोशी महासेतु का उद्घाटन करके मिथला और कोशी क्षेत्र को एक कर दिया गया हैं। अब लोगो को कोशी या मिथला क्षेत्र में आने-जाने के लिए लम्बी दुरी की घन्टो तक थका देने वाली यात्रा से मुक्ती मिल गई हैं।जयनगर-दरभंगा-समस्तीपुर रेलवे लाईन का विद्युती करण का काम भी सम्पन्न हो गया हैं, अब न र्सिफ ट्रेन तेज गती से चलेगी बल्की ईलेक्ट्रीक ईंजन पर्यावरण के अनुकूल भी होता है, जिससे प्रदुषण पर भी नियंत्रण होगा।नरेन्द्र मोदी के प्रयासों का ही नतीजा है, कि आज बिहार के सभी नेशनल हाईवे का निर्माण कार्य तीव्र गती से हो रहा है। तो कई नेशनल हाईवे जैसे जयनगर-दरभंगा के बीच बन कर तैयार हो चूका हैं।
बिहार में चल रही एनडीए के शासन में निरन्तर बिहार विकास के पथ पर बढ़ता जा रहा हैं। फल वितरण कार्यक्रम में भाजपा, युवा मोर्चा, किसान मोर्चा के कार्यकर्ता और पदाधिकारी भाजपा नगर अध्यक्ष राज कुमार साह, प्रखन्ड अध्यक्ष किशुन देव सहनी, पुर्व नगर अध्यक्ष विकास चंद्रा, भाजपा जिला उपाध्यक्ष प्रमिला पुर्वे, आईटी सेल संयोजक उधव कुंवर, महामंत्री ग्रामीण सुरेश प्रसाद, कला एवं संस्कृति विभाग के जिलाध्यक्ष सतीश झा, महामंत्री संतोष राउत, भाजयुमों नगर अध्यक्ष मृणाल कुमार, सरोज गोहिवार, योगेन्द्र साह, अश्वनी नायक, पप्पु नायक, मिडिया प्रभारी राहुल वर्मा कसेरा सहित दर्जनों की संख्या में कार्यकर्ता उपस्थित थे।

 

2. जीविका कैडर संघ का धरना, मांग पूरी न होने पर नीतीश सरकार का विधानसभा चुनाव में करेंगें विरोध

आज मधुबनी जिले के खजौली विधानसभा अंतर्गत जयनगर के बाबा पोखर प्रांगण में बिहार प्रदेश जीविका कैडर संघ के द्वारा विभिन्न मांगों के आलोक में दोये गया विशाल धरना। वहीं कार्यक्रम के अंत मे मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला भी फूंका गया। इस पर कार्यक्रम के दौरान नीतीश सरकार के खिलाफ नारे लगाए गए।
इस मौके पर प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि सुबे बिहार में ग्रामीण विकास मंत्रालय भारत सरकार के राष्ट्रीय ग्रामीण जीविका मिशन (N.R.L.M) के तहत संचालित जीविका ने महिला सशक्तिकरण की अलख जगाने के साथ-साथ गांव के तस्वीर और तकदीर बदलने अपनी महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। केंद्र या राज्य सरकार द्वारा दिए गए हरेक दायित्व को पूरा करने में इनके द्वारा कोई कसर नहीं छोड़ी जाती है। चाहे वह सामाजिक या आर्थिक सशक्तिकरण हो, या फिर वित्तीय। साक्षरता, शराबबंदी, मानव श्रृंखला, मनरेगा सर्वेक्षण, विद्यालय सर्वेक्षण, स्वच्छता अभियान के तहत शौचालय निर्माण ही क्यों ना हो, सबों में जीविका जमीनी स्तर पर काम करने वाले कार्यकर्ताओं (कैडरों) और जीविका दीदियों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया है, और इनको सफल बना कर एक कीर्तिमान स्थापित किया है।
पर भरे दुख के साथ कहना पड़ता है, आज जीविका में इतनी बड़ी संख्या में ग्रामीण गरीब महिलाओं के हितों की अनदेखी की जा रही है। इनको मिलने वाली राशि में भारी कटौती की गई है। वही जमीनी स्तर के कार्यकर्ता कैडरों को मिलने वाली पराश्रमिक इतनी कम है, की जीवनयापन की बात तो छोड़िए, लोगों को अपने मिलने वाली और पारश्रमिक और मिलने के तरीके भी बताने में शर्म आती है। सबसे ज्यादा आश्चर्य की बात यह है की सरकार कि कोई पहली स्कीम है, जिसमे काम के बदले लाभार्थियों को मानदेय का भुगतान करना पड़ता है।
विदित हो की जीविका में जमीनी अस्तर और काम करने वाले कैडरों की कुल संख्या पूरे बिहार में लगभग 85,000 है। इन्हीं कैडरों द्वारा स्वयं सहायता समूह का कार्य मुख्य रूप से जमीनी स्तर पर किया जाता है, और वर्तमान समय में स्वयं सहायता समूह की संख्या लगभग 8.25 लाख है, जिससे बिहार की कुल ग्रामीण गरीब महिलाओं का जुराब लगभग एक करोड़ है।बिहार प्रदेश जीविका कैडर संघ (संबद्ध : भारतीय मजदूर संघ,) जीविका में कार्यरत जमीनी स्तर के कार्यकर्ताओं कैडर और जीविका दीदियों का एक संगठन है। जिनकी सरकार से 10 सूत्रीय जायज मांगे है। अतः हैम बिहार सरकार से मांग करते है की इनकी मांगो पर सहानुभूति पूर्वक विचार करने की कृपा करें।

इनकी मांगें निम्न हैं :-

1). सभी कैडरों को जीविका की ओर से नियुक्ति पत्र ,पहचान पत्र और निर्धारित ड्रेस मिलें।
2). मानदेय कंट्रीब्यूशन सिस्टम और अविलंब रोक लगे
3). मानदेय का भुगतान नियमित और बैंक खाते में हो।
4). काम से हटाने की धमकी पर रोक लगे और धमकी देने वाले पर सख्त कानूनी कार्रवाई हो।
5). प्रखंड स्तर पर काम करने वाले कैडरो का मानदेय 18000, संकुल (C.L.F) स्तर पर 15000, ग्राम संगठन (V.O) स्तर पर 13000 स्वयं सहायता समूह (S.H.G) स्तर पर 12000 रुपए प्रतिमाह हो और सरकार इन सबों की नौकरी कम से कम 60 साल तय करें।
6). सभी कैडरों को क्षेत्र भ्रमण के लिए क्रमशः प्रखंड स्तर पर 4000 संकुल स्तर पर 3000 ग्राम संगठन स्तर पर 2000 स्वयं सहायता समूह स्तर पर 1000 रुपए यात्रा भत्ता मिले ।
7). सभी अध्यक्ष सचिव और कोषाध्यक्ष को संकुल स्तर पर 500 ग्राम संगठन स्तर पर 300 सिंह सहायता समूह स्तर पर ₹200 बैठक भत्ता मिले।
8). स्वयं सहायता समूह को ICF और RF के रूप में मिलने वाली राशि एक लाख हो।
9). परियोजना में 3 साल पूरा करने वाले कैडरों के लिए स्टाफ के रूप में पदोन्नति की व्यवस्था हो।
10). सभी कैडरों को सामाजिक सुरक्षा का लाभ अवकाश महिला कैडेटों को विशेष अवकाश मातृत्व अवकाश 1.5 लाख का मेडिक्लेम एवं 5 लाख का डेथ क्लेम मिले।इस मौके पर सैकड़ों की संख्या मे कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*

code