मधुबनी – जल जीवन हरियाली योजना के तहत मनरेगा के अन्तर्गत वृक्षारोपण का कार्य पकड़ने लगा जोर।। 2 .शहरी क्षेत्र में जल-जमाव की स्थिति एवं जल की निकासी को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन।। डाॅ0 प्रेम कुमार मंत्री।।4. DM की अध्यक्षता में मधनिषेध से संबंधित समीक्षा बैठक ।।। 5 .मुख्य सचिव, बिहार के द्वारा नल-जल योजना का क्रियान्वयन को शीघ्र पूर्ण करने का निदेश

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्ट -news desk

मधुबनी /बारिश का मौसम शुरू होते ही मधुबनी जिले में जल-जीवन-हरियाली अभियान के तहत मनरेगा के अंतर्गत वृक्षारोपण का कार्य जोर पकड़ने लगा है। लगातार बैठक कर इस दिशा में हो रही प्रगति की समीक्षा की जा रही है। इस हेतु कार्यक्रम पदाधिकारी, कनीय अभियंता, पंचायत तकनीकी सहायक के साथ जिला स्तर पर बैठक कर उन्हें आवश्यक निदेश दिया गया है।उल्लेखनीय है कि जिले में इस वर्ष लगभग 05 लाख पौधरोपण किया जाना है। इस हेतु पंचायतवार स्थलों को चिन्हित करते हुए उसका जियो टैगिंग कर सिक्योर साॅफ्टवेयर के माध्यम से प्राक्कलन तैयार कराया जा रहा है। वन विभाग को पौधा आपूर्ति करने का निदेश दिया जा चुका है। सभी मनरेगा कर्मियों को निदेशित किया गया है कि वे विभागीय निदेशों का पालन करते हुए गुणवत्तापूर्ण वृक्षारोपण करावें। प्रवासी मजदूरों का शत-प्रतिशत जाॅबकार्ड बनाकर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जा रहा है। जिले में अब तक 67000 मजदूरों को रोजगार मुहैया कराते हुए 16 लाख 61 हजार 398 मानव दिवस का सृजन अभी तक किया गया है। काम के दौरान सोशल डिस्टेंसिंग का पालन कराने की हिदायत विशेष रूप से दी गयी है।

 

2 .शहरी क्षेत्र में जल-जमाव की स्थिति एवं जल की निकासी को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन

मधुबनी/ जिलाधिकारी, डाॅ0 निलेश रामचन्द्र देवरे, भा0प्र0से0 की अध्यक्षता में गुरूवार को मधुबनी शहरी क्षेत्र में जल-जमाव की स्थिति एवं जल की निकासी को लेकर समीक्षा बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में माननीय नगर विधायक, श्री समीर कुमार महासेठ, कार्यपालक अभियंता, बुडको, कार्यपालक अभियंता, नगर परिषद एवं अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।
कार्यपालक अभियंता, बुडको द्वारा बताया गया कि मधुबनी शहरी क्षेत्र से जल की निकासी हेतु स्टाॅर्म वाटर ड्रेनेज के निर्माण के लिए स्वीकृत राशि 103.65 करोड़ के विरूद्ध विभाग द्वारा 3.75 करोड़ की राशि स्वीकृत/उपावंटित की गई है, जिसके विरूद्ध नाला निर्माण का कार्य प्रारंभ करते हुए 3.44 करोड़ राशि का व्यय किया गया है। कोरोना वायरस के प्रकोप के कारण सम्प्रति कार्य अवरूद्ध है, जिसे शीघ्र प्रारंभ करने की कार्रवाई की जायेगी।
जिला पदाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता, बुडको को शहर में अवस्थित तीनों कैनालों की उड़ाही अविलंब प्रारंभ करेंगे ताकि आगामी वर्षापात में शहरी क्षेत्र में जल जमाव की स्थिति उत्पन्न नहीं हो। उन्हें टीम को मोबलाईज करने एवं अप्रवासी कुशल मजदूर, जो कोरोना वायरस के चलते दूसरे प्रदेश से मधुबनी जिला में आए है, उन्हें काम पर लगायें। स्टाॅर्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम योजना हेतु स्वीकृत/कर्णांकित राशि का उपयोगिता प्रमाण पत्र विभाग को शीघ्र भेजने का निदेश दिया गया ताकि अवशेष राशि विमुक्त की जा सकेें। मधुबनी शहरी क्षेत्र से जल की निकासी हेतु माननीय विधायक द्वारा चिन्हित 5 स्थलों की उड़ाही पोकलैंड मशीन के द्वारा अविलंब करावें। उससे निकले कचड़े को नगर परिषद द्वारा उठाकर निर्धारित स्थल पर रखवाना सुनिश्चित किया जायेगा। स्टाॅर्म वाटर ड्रेनेज सिस्टम के निर्माण में यदि किसी स्थल पर अवरोध है/जमीन अतिक्रमित है, तो नापी का प्रस्ताव दें। नगर परिषद, मधुबनी के द्वारा नापी कराकर अतिक्रमण को खाली कराने की कार्रवाई की जायेगी। जिला पदाधिकारी द्वारा कार्यपालक अभियंता, बुडको को प्रस्तावित 06 कि0मी0 कैनाल के निर्माण हेतु स्थल चयन कर सूची शीघ्र उपलब्ध कराने का निदेश दिया गया। कार्यपालक पदाधिकारी, नगर परिषद, मधुबनी को शहरी क्षेत्र के अन्य मुहल्लों से जल की निकासी हेतु नालों की सफाई कराने तथा मधुबनी शहरी क्षेत्र में नाला/सड़क निर्माण हेतु टेंडर निकालने की कार्रवाई करने हेतु निदेश दिया गया।

3 . विडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से :डाॅ0 प्रेम कुमार मंत्री

 

डाॅ0 प्रेम कुमार मंत्री, कृषि-सह-पशु एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार सरकार के द्वारा दिनांक 19.06.2020 को विडियो काॅन्फ्रेसिंग के माध्यम से राज्य के सभी संयुक्त निदेशक (शष्य), जिला कृषि पदाधिकारी, सहायक निदेशक, उद्यान, परियोजना निदेशक, आत्मा, सहायक निदेशक, रसायन एवं प्रखण्ड स्तरीय प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी, प्रखण्ड तकनीकी प्रबंधक, सहायक तकनीकी प्रबंधक, प्रखण्ड उद्यान पदाधिकारी, कृषि समन्वयक तथा किसान सलाहकार के साथ कृषि विभाग के द्वारा संचालित विभिन्न योजनाओं की बिन्दुबार समीक्षा की गई।
समीक्षा के क्रम माननीय मंत्री, कृषि के द्वारा पंचायत स्तर पर स्थापित पंचायत कृषि कार्यालय के संबंध में सभी जिला कृषि पदाधिकारी एवं प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी को निदेशित किया गया कि सरकार के द्वारा स्थापित पंचायत कृषि कार्यालयों में किसानों को ससमय सभी तरह की सुविधाएं उपलब्ध कराना सुनिश्चित की जाय तथा पंचायत कृषि कार्यालय का निरीक्षण करने हेतु निदेशित किया गया।
खरीफ 2020 में विभिन्न योजनाओं के तहत प्रखण्ड स्तरीय बीज वितरण की समीक्षा के क्रम में निदेश दिया गया किसानों को बीज ससमय उपलब्ध करायी जाय तथा जिस किसानों ने बीज की होम डिलेवरी हेतु आवेदन किया है, उन्हें होम डीलेवरी बीज उपलब्ध करायी जाय। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना में लंबित आवेदनों को अतिशीघ्र निष्पादन करने हेतु निदेश दिया गया तथा अधिक-से-अधिक नये किसानों को उक्त योजनाओं का लाभ दिया जाय। प्रखण्ड स्तर पर गठित प्रखण्ड किसान सलाहकार समिति को क्रियाशील करने हेतु निदेश दिया गया। ई-गवर्नेन्स योजना के अन्तर्गत प्रखण्ड स्तरीय प्रतिवेदन को ऑनलाईन करने हेतु निदेश दिया गया। मिट्टी नमूना संग्रहण एवं जांच तथा मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण के संबंध में समीक्षा की गई एवं जिलों में जल जीवन-हरियाली-योजना की समीक्षा की गई तथा जिला कृषि पदाधिकारियों से इसके बारे में विस्तृत जानकारी ली गई। आत्मा द्वारा गठित किसान उत्पादक संगठन/कृषक हितार्थ समूह/खाद्य सुरक्षा समूह तथा कृषि विभाग के द्वारा संचालित अन्य सभी योजना की प्रगति से अवगत हुए। राज्य के सभी जिला कृषि पदाधिकारी एवं कुछेक प्रखण्डों के प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी से रू-बरू होकर योजनाओं के बारे में एवं योजनाओं के संचालित करने में आ रही समस्याओं से अवगत हुए तथा समस्याओं के समाधान हेतु आवश्यक दिशा-निर्देश दिया गया। सभी पदाधिकारियों एवं कर्मियों को निदेश दिया गया कि कृषि विभाग के द्वारा संचालित सभी योजनाओं की जानकारी का प्रचार-प्रसार पंचायत स्तर तक कर अधिक से अधिक किसानों को लाभान्वित कराना सुनिश्चित करेंगे।

4. DM की अध्यक्षता में मधनिषेध से संबंधित समीक्षा बैठक 

मधुबनी/ जिलाधिकारी डाॅ0 निलेश रामचन्द्र देवरे, भा0प्र0से0 की अध्यक्षता में शुक्रवार को मध निषेध की समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में पुलिस अधीक्षक, उत्पाद अधीक्षक ,पांचों अनुमंडल के एसडीओ एवम् एसडीओपी थे। जिला पदाधिकारी ने सभी एसडीपीओ से उनके थाने के मध निषेध प्रतिवेदन लाने का निर्देश दिया था। जिला पदाधिकारी ने चौलाही /देसी शराब का अड्डा का पता लगाकर पकड़े गए शराब का विनास्टिकरण महीने के आखिर तक करने का सख्त निर्देश एसडीओ तथा एसडीपीओ को दिया है।विशेष रूप से लौकाही ,जयनगर ,झंझारपुर, आदि क्षेत्रों में मध निषेध एवम् स्थानीय थाना समन्वय स्थापित कर संयुक्त कारवाई करे।

 

5 .मुख्य सचिव, बिहार के द्वारा नल-जल योजना का क्रियान्वयन को शीघ्र पूर्ण करने का निदेश

मधुबनी/ मुख्य सचिव, बिहार, श्री दीपक कुमार की अध्यक्षता में शुक्रवार को विडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से नल-जल योजना के क्रियान्व्यन को लेकर समीक्षात्मक बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में जिलाधिकारी, डाॅ0 निलेश रामचन्द्र देवरे, भा0प्र0से0, सहायक समाहत्र्ता, सुश्री प्रिति, उप-विकास आयुक्त, मधुबनी, श्री अजय कुमार सिंह, जिला पंचायती राज पदाधिकारी समेत अन्य पदाधिकारीगण उपस्थित थे।समीक्षा के क्रम में बताया गया गया कि मधुबनी जिला में वित्तीय वर्ष-2019-20 में निर्धारित लक्ष्य 4721 के विरूद्ध 3136 योजना पूर्ण हो चुका है, जबकि 1585 प्रगति पर है, जो अगले 15 दिनों में पूर्ण करा लिया जायेगा।तत्पश्चात जिलाधिकारी द्वारा जिला पंचायती राज पदाधिकारी, मधुबनी को कार्यो में तेजी लाने का निदेश दिया साथ ही दिनांक 20.06.2020 को 1:00 बजे अपराह्न में सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं मुखिया तथा कार्यपालक अभियंता, पंचायत सचिव के साथ विडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से समीक्षा बैठक का आयोजन करने हेतु निदेश दिया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *