मधुबनी – बेनीपट्टी एसडीओ व डीएसपी ने ली क्वारेंटिन सेंटर का जायजा, बांटे गये 450 डिग्निटीक किट।।। 2.प्रखंड क्षेत्रो मे वट सावित्री पुजा मना धुम धाम से,नवविवाहिता ने की पुजा

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

अंजुम की रिपोर्ट

बेनिपट्टी एसडीएम मुकेश रंजन एवं एसडीपीओ अरुण कुमार सिंह ने हरलाखी प्रखंड के कई क्वारेंटिन सेंटर का जायजा लिया।इसी क्रम में खिरहर, नहरनीया, झिटकी व सिसौनी पंचायत के विभिन्न क्वारेंटिन सेंटर पर पहुंचकर करीब 450 प्रवासियों के बीच डिग्निटीक किट का वितरण किया गया तथा प्रवासियों को क्वारेंटिन सेंटर में सोशल डिस्टेंस बनाकर रहने का निर्देश भी दिया।इस दौरान एसडीएम ने सभी क्वारेंटिन सेंटर के प्रवासियों को बुनियादी सुविधा देने एवं स्वास्थ्य जांच करते रहने का निर्देश संबंधित पदाधिकारियों को दी।मौके पर बीडीओ अरुणा कुमारी चौधरी,सीओ शशीभूषण प्रसाद सिंह,थानाध्यक्ष अशोक कुमार,प्रखंड प्रमुख राजेश कुमार पाण्डेय उर्फ बालाजी समेत अन्य पदाधिकारी मौजूद थे।

2.प्रखंड क्षेत्रो मे वट सावित्री पुजा मना धुम धाम से,नवविवाहिता ने की पुजा

प्रखंड में शुक्रवार को वट सावित्री पुजा धूमधाम से मनाया गया।सुहागिन महिलाएं अपने पति की लंबी आयु के साथ परिवार कि सुख समृद्धि के लिए वट वृक्ष की पूजा अर्चना की।इस दौरान कल्याणेश्वर स्थान स्थित तालाब के भींडा पर वट वृक्ष का पुजा करने दर्जनों गांव से सुहागिनों का भीड़ सुबह से ही उमड़ी रही।महिलाएं बरगद पेड़ के निचे बैठ कर पूजा अर्चना की।इस दौरान वट वृक्ष के चारों ओर घूमकर रक्षा सूत्र बांधते हुए पति की लंबी उम्र का कामना की।इस अवसर पर सुहागिनों एक- दूसरे को सिंदूर लगाने के बाद सत्यवान और सावित्री की कथा सुनी।वहीं नवविवाहिता सुहागिनों में पहली बार वट सावित्री पूजा का अलग ही उत्साह देखा गया।सुहागन महिलाओं का उत्साह इतना था मानो कोरोना पर भारी पड़ गया हो।

मान्यता के अनुसार वट सावित्री व्रत करने वाली स्त्री के पति पर आने वाले हर संकट दूर हो जाता है.पुराणों के अनुसार इसी दिन सावित्री अपने पति सत्यभामा के प्राण को यमराज से वापस ले आई थी,इसलिए उन्हें सती सावित्री कहा जाता है,तभी से यह पूजा सुहागिनों के लिए विश्वास के प्रतीक बनी हुई है और हर वर्ष ज्येष्ठ मास की कृष्ण पक्ष की अमावस्या को इस पर्व को मनाई जाती है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *