सीतामढ़ी – डीएम ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के उद्देश्य से संचालित कार्यो की समीक्षा C O के साथ किया

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

सुधीर कुमार राय की रिपोर्ट

 

सीतामढ़ी / बिहार के बाहर से आ रहे प्रवासी श्रमिक भाइयो एवं अन्य लोगों की बढ़ती संख्या के मद्देनजर सरकार से प्राप्त दिशा निर्देश के आलोक में डीएम अभिलाषा कुमारी शर्मा ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोरोना वायरस के संक्रमण को कम करने के उद्देश्य से संचालित कार्यो की समीक्षा अंचल अधिकारियों के साथ कर कई आवश्यक निर्देश दिए।
डीएम ने कहा कि राज्यों एवं शहरों को ग्रेडो में बांटा गया है, जिसके तहत सूरत, अहमदाबाद, मुंबई, पुणे, दिल्ली, कोलकाता को ग्रेड ए अर्थात रेड जोन में रखा गया है। इन शहरों से आने वाले प्रवासी श्रमिको एवं अन्य लोगों को सीतामढ़ी जिला अंतर्गत प्रखंड स्तरीय कोरेंटिन केंद्रों पर रखे जाने की व्यवस्था की जा रही है। इसी प्रकार हरियाणा, महाराष्ट्र, पश्चिम बंगाल, गुजरात,उत्तर प्रदेश को ग्रेड बी में रखा गया है, इन राज्यों से आने वाले लोगों को पंचायत स्तरीय कोरेंटिन केंद्र पर रखे जाने की व्यवस्था की जाएगी। इसके अतिरिक्त अन्य राज्यों और शहरों से आने वाले को ग्रेड सी में रखा गया है, जिन्हें ग्राम स्तरीय कोरेंटिन केंद्रों पर रखे जाने की व्यवस्था रहेगी। उन्होंने बताया कि सभी प्रवासी लोगों को संबंधित क्षेत्र के अनुसार निर्धारित कोरेन्टीन केंद्रों पर 14 दिनों तक आवासित रहना होगा। कोरेंटिन की निर्धारित अवधि पूर्ण होने के पश्चात् संबंधित लोगों की मेडिकल स्क्रीनिंग करा कर घोषणा पत्र लेने के बाद ही होम कोरेंटीन में भेजा जाएगा।
उन्होंने सभी अंचल अधिकारियों को निर्देश देते हुए कहा कि आने वाले प्रवासी लोगों के लिए ग्रेड के अनुसार क्षेत्रवार निर्धारित क्वॉरेंटीन केंद्रों पर आपदा प्रबंधन विभाग के दिशा निर्देश के अनुसार सभी आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित कराएं। उन्होंने निर्देश देते हुए कहा कि कोरेंटिन में रह रहे सभी प्रवासी लोगों का स्वयं का आधार नंबर एवं बिहार राज्य में स्थित बैंक का खाता नंबर लिया जाना है तथा उस उसे निर्धारित *सम्पूर्ति पोर्टल* पर अपलोड किया जाना है। इस कार्य को पूरी तत्परता से सुनिश्चित कराया जाए।
उन्होंने कहा कि जो लोग क्वॉरेंटीन केंद्र से होम कोरेंटिन में भेजे जाएंगे, उनकी स्वास्थ्य जांच के पश्चात् उनके आंकड़े कोविड बिहार एप्प पर डिस्चार्ज एवं अलक्षणात्मक प्रविष्टि के साथ दर्ज किए जाएंगे। उन्होंने डीआईओ को निर्देश देते हुए कहा कि *कोविड बिहार एवं संपूर्ति पोर्टल* पर दर्ज की जाने वाली प्रविष्टियों के विषय में कोरेंटिन केंद्रवार प्रतिनियुक्त कंप्यूटर ऑपरेटरों को वांछित जानकारी सुलभ कराएं, ताकि इन कार्यों को समय पूरा किया जा सके। उन्होंने कड़े निर्देश देते हुए कहा कि कोरेंटिन में रह रहे सभी लोगों के आधार एवं बिहार में स्थित बैंक का खाता संख्या हर हाल में लिया जाए ताकि सरकार की ओर से दी जाने वाली सहायता राशि को अविलंब भेजा जा सके। उन्होंने प्रखंड के सभी वरीय पदाधिकारियों को सख्त निर्देश देते हुए कहा कि इन कार्यों की समुचित मोनिटरिंग करते हुए सभी कार्यों को समय पर पूरा कराये जाएं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *