मधुबनी – लदनियां / डीलरों के लपरवाही पर जांच अधिकारी अपना जांच प्रतिवेदन BDO एवं वाल विकास पदाधिकारी को देते हुए कार्रवाई की अनुशंसा की

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्ट – न्यूज़ डेस्क

मधुबनी जिला के लदनियां प्रखंड के कुमरखत पूर्वी पंचायत के पथलगाढा गांव के जनवितरण प्रणाली के विक्रेता जलधारी महरा के द्वारा जमकर मनमानी किए जाने की खबर सामने आ रही है। लोगों का शिकायत है कि डीलर राशन कार्ड धारियों को बीते पांच माह से राशन नहीं दे रहा है। जिसके कारण लोगों के बीच खाद्य सामग्री का घोर अभाव हो गया है। कारण आज पथलगाढा के वार्ड 06 अंश,07, 08 के दर्जनों उपभोक्ताओं का आक्रोश डीलर के मनमानी के विरूद्ध फूट पड़ा। उपभोक्ताओं के शिकायत पर जांच करने पहुंची आंगनबाड़ी पर्यवेझिका के पहुंचते ही आक्रोशित सैकड़ों लोगों ने सोशल डीसटेंसीन को तोड़ कर डीलर के घर पहुंच कर प्रर्दशन कर अपना रोष व्यक्त करते हुए कहा कि हम लोगों के पास राशन कार्ड है,हमलोगों का नाम डीलर को उपलब्ध कराये गयें सूची में है,लाभूक के जगह डीलर अपने पुत्र का आधार लींक कर राशन का उठाव कर रहा है, हमलोगों को नाम नहीं होने का बहाना बनाकर राशन नहीं दिया जा रहा है। कुछ लोगों को तो आज तक अनाज नहीं दिया है। हम लोगों को पिछले पांच महीनों से अनाज नहीं दिया है। सम्प्रति हम लोगों के समक्ष इस लाॅक डाउन में खाद्य सामग्री का अभाव हो गया है। उपभोक्ताओं ने आरोप लगाते हुए कहा कि जब भी हम लोग डीलर के पास राशन की मांग करने जाते है तो डीलर हरीजन मुकदमा दायर कर तंग व तबाह करने की धमकी दे कर भगा दिया जा रहा है, महिलाओं के साथ गाली गलौज करने लगता है। वहीं महिला उपभोक्ताओं का कहना था कि डीलर द्वारा प्रधानमंत्री गरीब कल्याण योजना के तहत मिलने वाली राशन भी नहीं दिया जा रहा है। पूछने पर वोलते है कि जहां जाना है जाइए, हमें किसी का डर नहीं है।बता दें कि लाॅक डाउन को देखते हुए सरकार ने पूर्व से मिलने वाली राशन के अतिरिक्त प्रति सदस्य पांच किलो चावल देने का आदेश दिया है।

                                 परंतु पथलगाढा गांव के डीलर पर सरकार के इस आदेश का असर देखने को नहीं मिल रहा है। शिकायत करने पर आंगनबाड़ी पर्यवेझिका विध्यावाशनी ने जांच करने पथलगाढा गांव पहुंची तो भनक लगते ही वंचित उपभोक्ता डीलर के घर पहुंच गए, और डीलर के विरूद्ध आवाज बुलंद करने लगा। जांच कर्मी के द्वारा अनशुनी के स्थिति लोगों ने जांच अधिकारी को घेर लिया। जांच अधिकारी ने फोन पर इस बात की सुचना प्रखंड विकास पदाधिकारी नवल किशोर ठाकुर को दिया। बीडीओ श्री ठाकुर ने पंचायत समिति सदस्य राम कुमार यादव को सूचना दे कर अधिकारी को मुक्त कराने का आग्रह किया। पंचायत समिति सदस्य राम कुमार यादव ने घटनास्थल पर पहुंच कर आक्रोशित लोगों के चंगुल से मुक्त कराते हुए कार्रवाई का आश्वासन दिया। जांच अधिकारी अपना जांच प्रतिवेदन प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं वाल विकास पदाधिकारी लदनियां को देते हुए कार्रवाई की अनुशंसा की।वाल विकास पदाधिकारी ने उक्त प्रतिवेदन को अपने मन्यतब्य के साथ अनुमंडल पदाधिकारी से कारवाई की आग्रह किया है। परंतु अनुमंडल पदाधिकारी के स्तर से किसी प्रकार की कार्रवाई नहीं होने से लोगों में आक्रोश गहरा रहा है जो प्रशासन के लिए सबब बन सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *