मधुबनी – DM द्वारा विडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रखंड क्वारंटाइन सेन्टर पर दी जानेवाली सुविधाओं एवं उसकी अद्यतन स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी ली।। 2..सामान्य प्रशासन विभागीय अधिसूचना के आलोक में सुश्री प्रीति ने मधुबनी जिला में योगदान किया ।।। 3 .निर्धारित ट्रेन थाणे(महाराष्ट्र) श्रमिक स्पेशल से कुल 1200 यात्री/प्रवासी आये

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्ट – न्यूज डेस्क

 

मधुबनी/ डाॅ0 निलेश रामचन्द्र देवरे जिलाधिकारी एवं डाॅ0 सत्यप्रकाश, पुलिस अधीक्षक के द्वारा शनिवार को समाहरणालय स्थित जिला पदाधिकारी कक्ष से विडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से कोविड-19 पर सरकार से प्राप्त निदेशों एवं प्रखंड क्वारंटाइन सेन्टर पर दी जानेवाली सुविधाओं एवं उसकी अद्यतन स्थिति के बारे में विस्तृत जानकारी ली गयी। द्वारा राज्य सरकार द्वारा ट्रेनों एवं अन्य माध्यमों से बिहार राज्य में आये प्रवासी मजदूरों को जो प्रखंड/पंचायत स्तरीय क्वारंटाइन कैंप में रह रहे हैं, को प्रवासी मजदूर निःसक्रमण सहायता राशि के संबंध में आपदा प्रबंधन विभाग द्वारा जारी निदेशों का त्वरित अनुपालन करने का निदेश दिया गया। साथ ही यह भी बताया गया कि प्रवासी मजदूर निःसक्रमण सहायता राशि उन्हीं व्यक्तियों को दी जायेगी, जो 14 दिनों तक प्रखंड/पंचायत स्तरीय क्वारंटाइन सेन्टर में रहेंगे।
उन्होंने सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को निदेश दिया कि रेड जोन के अंतर्गत आनेवाले राज्यों यथा-महाराष्ट्र, गुजरात एवं दिल्ली के प्रवासी मजदूरों को अनिवार्य रूप से प्रखंड क्वारंटाइन सेन्टर में ही रखा जायेगा, जबकि अन्य राज्यों से आनेवाले पंचायत मजदूरों को पंचायत क्वारंटाइन सेन्टर में रखा जायेगा। अगर किसी व्यक्ति में कोविड-19 का लक्षण पाया जाता है, और उसका सैंपल लिये जाने पर उसे संबंधित प्रखंड के कस्तूरबा विद्यालय स्थित कैंप में रखा जायेगा। साथ ही जांच रिपोट में कोविड-19 पाॅजिटीव पाये जाने पर उसे आईसोलेशन वार्ड में रखा जायेगा। जिले के सभी प्रखंडों एवं पंचायतों में डिग्निटी कीट के आपूर्ति में हो रही देरी को देखते हुए इसकी आपूर्ति अनुमंडल पदाधिकारी के स्तर से भी संबंधित प्रखंडों को करने हेतु आदेश निर्गत किया गया है।
ज्ञातव्य हो कि पूर्व में डिग्निटी की आपूर्ति प्रखंड एवं जिला नजारत के माध्यम से की जाती थी। जिसके कारण जिले के कई प्रखंड/पंचायतों में ससमय डिग्निटी कीट नहीं पहुंचने की शिकायत मिलती थी। अधिकांश प्रखंड विकास पदाधिकारी द्वारा प्रखंड स्तर पर शिक्षा विभाग के कर्मी/रसोईया के द्वारा क्वारंटाइन सेन्टर पर आवश्यक सहयोग नहीं करने की शिकायतों को गंभीरता से लेते हुए उनके विरूद्ध कार्रवाई हेतु संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी/अनुमंडल पदाधिकारी को कार्रवाई हेतु प्रतिवेदन भेजने का निदेश दिया गया। साथ ही जिला शिक्षा पदाधिकारी को निदेश दिया गया कि वैसे कर्मी/रसोईया जिनके विरूद्ध शिकायत से संबंधित प्रतिवेदन प्राप्त होता है, उनपर त्वरित कार्रवाई करना सुनिश्चित करें।
तत्पश्चात पुलिस अधीक्षक के द्वारा सभी एस0डी0पी0ओ0 को प्रत्येक क्वारंटाइन सेन्टर पर एक सिपाही एवं एक चौकीदार की प्रतिनियुक्ति करने का निदेश दिया गया। तथा सभी क्वारंटाइन सेन्टर की जांच संबंधित थानाध्यक्ष द्वारा प्रतिदिन की जायेगी। सभी सर्किल ऑफिसर को थानाध्यक्षों द्वारा नियमित क्वारंटाइन सेन्टर का भ्रमण किया जा रहा है अथवा नहीं उसकी निगरानी की जायेगी।
उन्होंने सभी एस0डी0पी0ओ0 को प्रतिदिन एक क्वारंटाइन सेन्टर का अवश्य निरीक्षण करने का निदेश दिया गया। साथ ही उन्होंने सभी थानाध्यक्षों को दुपहिया वाहन(बाईक) पर दो व्यक्तियों के बैठे पाये जाने पर उसका चालान काटने हेतु निदेश दिया गया।
जिला पदाधिकारी एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा संयुक्त रूप से सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं थानाध्यक्षों को निदेश दिया गया कि बाहर से ट्रक या अन्य साधनों से आनेवाले प्रवासियों को जिले की सीमाओं पर जांच करते हुए उन्हें उनके संबंधित प्रखंड के क्वारंटाइन में भेजना सुनिश्चित करें।

 

2.सामान्य प्रशासन विभागीय अधिसूचना के आलोक में सुश्री प्रीति ने मधुबनी जिला में योगदान किया 

मधुबनी/ सामान्य प्रशासन विभागीय अधिसूचना के आलोक में सुश्री प्रीति, भा0प्र0से0 (परीक्ष्यमान), सहायक समाहत्र्ता-सह-सहायक दंडाधिकारी, मधुबनी द्वारा दिनांक 13.05.2020 को मधुबनी जिला में योगदान किया गया है। जिला प्रशिक्षण के क्रम में सुश्री प्रीति को दिनांक-18.05.2020 एवं 19.05.2020 को सदर अनुमंडल, दिनांक-20.05.2020 एवं 21.05.2020 को बेनीपट्टी अनुमंडल, दिनांक-22.05.2020 एवं 23.05.2020 को जयनगर अनुमंडल, दिनांक-25.05.2020 एवं 26.05.2020 को झंझारपुर अनुमंडल तथा दिनांक-27.05.2020 एवं 28.05.2020 को फुलपरास अनुमंडल में संबद्ध किया गया है।
निर्धारित तिथि को संबंधित अनुमंडल एवं उनके प्रखंडों में भ्रमण कर विभिन्न कार्रवाई/कार्यालय कार्य संचालन की व्यवस्था तथा कोरोना महामारी रोग कोविड-19 के संक्रमण के फलस्वरूप स्थापित क्वारेंटाइन सेन्टरों/कंटेनमेंट जोन में की जा रही व्यवस्था का भी पर्यवेक्षण/अनुश्रवण किया जायेगा।

 

3 .निर्धारित ट्रेन थाणे(महाराष्ट्र) श्रमिक स्पेशल से कुल 1200 यात्री/प्रवासी आये थे

मधुबनी /दिनांक-16.05.2020 को पूर्व से निर्धारित ट्रेन थाणे(महाराष्ट्र) श्रमिक स्पेशल ट्रेन सुबह 01बजकर 45 मिनट अपने निर्धारित समय से लगभग 15 घंटे विलंब से मधुबनी स्टेशन पर पहुंची। ट्रेन से आये प्रवासियों की अगुवाई श्री अजय कुमार सिंह, उप-विकास आयुक्त, श्री सुशील कुमार, जिला परिवहन पदाधिकारी, श्री सुनील कुमार सिंह, अनुमंडल पदाधिकारी, सदर, सुश्री कामिनीबाला, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी सदर, श्री शैलेन्द्र कुमार, जिला सूचना एवं जनसंपर्क पदाधिकारी, श्री बुद्धप्रकाश, प्रभारी, जिला आपदा प्रबंधन शाखा द्वारा किया गया। ट्रेन से कुल 1200 यात्री/प्रवासी आये थे। जिनमें सहरसा, कटिहार, बांका, भागलपुर, पूर्णिया, समस्तीपुर, सुपौल, किशनगंज तथा मधुबनी जिला के प्रवासी थे। प्रवासियों को उनके प्रखंड/जिला पहुंचाने के लिए 50 बसों की व्यवस्था जिला प्रशासन द्वारा किया गया था। प्रवासियों के स्क्रीनिंग हेतु चिकित्सकों का दल स्टेशन पर मौजूद था। प्रत्येक प्रवासी यात्री की स्क्रीनिंग के पश्चात उनको खाने का पैकेट, पानी का बोतल, मास्क, साबुन इत्यादि का किट वितरित किया गया। जबकि एक अन्य ट्रेन शाम 07ः00 बजे भिवंडी से आने को निर्धारित है। जिला के प्रवासियों को सभी प्रखंडों के क्वारेंटाईन सेन्टर पर 14 दिन रखने की व्यवस्था पूर्व से है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *