मधुबनी – मंडल कारा में एकबार फिर जेलर की गुंडागर्दी का मामला

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्टर – शदाब अख्तर

मधुबनी /कहा गया है कि कैदी और जेल प्रशासन की पुराना दोस्ताना रहता है । लेकिन यह दोस्ताना बेरहम जेलर के रूप में दिखाई दिया गया है । तीन कैदी को बेरहमी से पिटाई करने का मामला सामने आया है । में कैदी बंद है । एकबार फिर मंडल कारवास के अधीक्षक की गुंडागर्दी करने का मामला प्रकाश में आया है ।

मधुबनी जिले के मधेपुर थाना अन्तर्गत भीठ भगवानपुर गांव में 2013 ई0 में भूमि विवाद में मर्डर हुई थी । जिसमें दोनों पक्षों को 14 व्यक्ति को न्यायालय ने कारावास की सजा सुनाई थी । मंडल कारा में अक़्सर कैदियों को बेरहमी से पीटा जाता है । इससे पहले भी एक कैदी को पिट पिट कर मौत की घात उतार दिया गया था । जिसमें जेल अधीक्षक पर मर्डर करने का एफआईआर दर्ज हुई थी जिसको लेकर पुरे जिले के आम जनता आक्रोशित थे । फिर वही घटना वर्तमान जेल अधीक्षक के द्वारा किया गया है । जो कि मंडल कारा में बंद एक ही परिवार के तीन लोगों को बेरहमी से पीटा गया है । वही गम्भीर रूप से घायल कैदी के परिजनों ने जेल अधीक्षक और जेल प्रशासन पर बेरहमी से पिटाई करने का आरोप लगाया है ।

अर्जुन यादव , परिजन

                 जिस तरह से अंग्रेजों की शासन में हिंदुस्तानियों पर जुर्म होता था , ठीक उसी तरह रामपट्टी मंडल कारा में जेल अधीक्षक और जेल प्रशासन के द्वारा किया गया है । वही कैदी रामचंद्र यादव की पत्नी ने न्यायालय के द्वारा मुआवजे की राशि दी जाती है उसमें से कमीशन की डिमांड किया गया है नही देने पर बेरहमी से पिटाई किया गया । कमीशन नही देने के कारण पिटाई किया गया है यह आरोप लगाई है ।

कौशिल्या देवी , कैदी की पत्नी

जेल अधीक्षक की ऐसी गुंडागर्दी एक ही कैदी पर नही बल्कि कई कैदियों पर जुर्म करते है । यह बहुत बड़ी सवालिया खड़ा होती है ।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *