दरभंगा  – ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के बहुउद्देश्यीय भवन में प्रेमचन्द्र जयंती समापन सह पुरस्कार वितरण समारोह

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

ब्यूरो – अजित कुमार सिंह

दरभंगा  / ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय के बहुउद्देश्यीय भवन में प्रेमचन्द्र जयंती समापन सह पुरस्कार वितरण समारोह का आयोजन किया गया। प्रो.धर्मेन्द्र कुमर की अध्यक्षता में उत्सवी माहौल में सम्पन्न हुआ। तीन चरणों में आयोजित समारोह के पहले चरण में “मौजूदा परिस्थिति में प्रेमचन्द्र साहित्य की प्रासंगिकता” विषय पर व्याख्यानमाला का आयोजन किया गया, जिसका उद्घाटन समारोह के मुख्य अतिथि संयुक्त राज्य अमेरिका से आए अजीम शायर मोहम्मद रफीउद्दीन राज ने किया। शायर राज ने अपने उद्घाटन भाषण में कहा कि प्रेमचन्द्र की रचना हमें सिर्फ और सिर्फ इंसानियत की ओर ले जाती है। शायर राज के अनुसार प्रेमचन्द्र की रचनाओं में गांधीवाद और मानवतावाद की महक आती है। बतौर मुख्य वक्ता इग्नू के क्षेत्रीय निदेशक डॉ.शम्भू शरण सिंह ने प्रेमचन्द्र को साहित्य के शिखर पुरुष बतलाते हुए कहा कि आज उनके साहित्य के अवगाहन की आवश्यकता है, ताकि प्रेमचन्द्र के द्वारा जलाए गए मशाल की रौशनी में हम अपनी आगे की राह तलाश सकें। विशिष्ट वक्ता के रूप में इतिहास विभागाध्यक्ष प्रो.प्रभास चन्द्र मिश्र ने कहा कि प्रेमचन्द्र साहित्य में वर्तमान की सारी समस्याओं का समाधान है। मौके पर डॉ. जयशंकर झा, डॉ हीरालाल सहनी, उर्दू विभागाध्यक्ष आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए अध्ययन में इतिहासकार प्रो. धर्मेन्द्र कुमर ने प्रेमचन्द्र जयंती समारोह के उद्देश्य पर प्रकाश डालते हुए कहा कि विभिन्न प्रकार की बौद्धिक गतिविधियों में प्रतियोगिता का आयोजन कर हम बच्चों में न केवल स्वस्थ प्रतियोगिता की भावना और उनकी रचनात्मक प्रतिभा को विकसित करना चाहते हैं, बल्कि उनमें श्रेष्ठ मानव मूल्यों,प्रगतिशील वैज्ञानिक सोच और सामाजिक राष्ट्रीय दायित्व बोध को भी प्रेरित करना चाहते हैं।

आयोजन के दूसरे चरण में संक्षिप्त सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। इस कार्यक्रम में अनुरागिनी म्यूजिकल ग्रुप बंगाली टोला लहेरियासराय दरभंगा की डॉ.अमृता राय, आराध्या कुमारी एवं सृष्टि कुमारी ने अपने गीतों से खचाखच भरे बहुउद्देश्यीय भवन में अपूर्व आध्यात्मिक वातावरण की सृष्टि की तो नुपुर नृत्यकला मंच की नीतू और अंकिता ने अपने भाव नृत्य से दर्शकों को मंत्रमुग्ध कर दिया। सांस्कृतिक कार्यक्रम को सृष्टि फाउंडेशन के रूबी गुप्ता एवं सोनाधारी सिंह ने ओडिसी प्रस्तुत कर एक नई ऊंचाई प्रदान किया। कार्यक्रम के अंत में दरभंगा किलकारी की ओर से “ठाकुर का कुंआ” नाटक की शानदार प्रस्तुति की गई। आयोजन के तीसरे चरण में विगत 25 अगस्त 2019 को जिला स्तरीय बौद्धिक गतिविधि प्रतियोगिता में सफल प्रतिभागी छात्र-छात्राओं को पुरस्कृत किया गया। 296 सफल प्रतिभागियों ने इस अवसर पर पुरस्कार ग्रहण किया। विद्यालय सह सर्वाधिक सहभागिता के लिए एंजेल हाई स्कूल दरभंगा और सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन के लिए डी.ए.वी स्कूल दरभंगा को पुरस्कृत किया गया। पूरे आयोजन का आगाज प्रेमचंन्द्र जयंती समारोह के उपाध्यक्ष डॉ. हीरालाल सहनी द्वारा प्रस्तुत उद्बोधन गीत से हुआ और स्वागत भाषण सचिव डॉ.लाल कुमार ने प्रस्तुत किया। कार्यक्रम का संचालन मोहम्मद मुजाहिद आलम ने किया। कार्यक्रम को सफल बनाने में श्री रूसो सेन गुप्ता, डॉ. मो.जमील हसन अंसारी, श्रवण कुमार,रौशन कुमार, ललित कुमार, दयानंद कुमार, दुर्गानंद शर्मा, नील कमल, छवि कुमार, मो.अमीर, मुहम्मद सैफ अली,हरे राम एवं डॉ उमेश कुमार शर्मा आदि ने महत्वपूर्ण योगदान दिया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *