पत्रकार सुरक्षा कानून बनाकर पत्रकारों कें मामले को निबटाने कें लिय अलग से सेल बनाई जानी चाहिए:असोसिएशन प्रदेश अध्य़क्ष रामनाथ विद्रोही

बिहार हलचल न्यूज ,जन जन की आवाज

रिपोर्ट – न्यूज़ डेक्स

सहारनपुर कें पत्रकार आशीष औऱ उनके भाई हत्याकांड कें विरोध मेँ स्थानीय लोगों नें जमकर विरोध प्रदर्शन किया ।जिसपर पुलिस नें लाठी चार्ज किया है ।इसकी इंडियन जर्नलिस्ट असोसिएशन बिहार नें कड़ी निंदा की है । असोसिएशन कें प्रदेश अध्य़क्ष रामनाथ विद्रोही नें युपी में पत्रकारों पर हो रहें उत्पीड़न हत्या की घटना कें लिए प्रदेश की योगी सरकार को जिम्मेवार ठहराया है औऱ कहा हैं की हाल कें दिनों मेँ बहा 10 से अधिक पत्रकार प्रताड़ित किये गये । सम्भल , लखीमपुरखीरी , हाथरस की घटना इसके ताजा उधारण हैं । गुंडे , शराव माफिया पुलिस गठबंधन कें कारण ही पत्रकार हमले का शिकार हो रहें हैं।सम्भल कें विजेन्द्र सिह को एक महिने पहले शराव माफिया नें मारपीट कर बुरी तरह जख्मी कर दिया जिन्हे महीनो अस्पताल मेँ इलाज् रत रहना पड़ा । इन्होनें शराव माफिया कें खिलाफ अपने चैनल मेँ चलाया था ।इसी तरह शराव माफिया कें खिलाफ लिखने कें कारण रविवार को सहारनपुर मेँ पत्रकार आशीष औऱ उनके भाई को गोली मारकर हत्या कर दी ।
श्री विद्रोही नें कहा हैं की मुख्यमन्त्री योगी आदित्यनाथ नें घटना पर संज्ञान लिया हैं औऱ पत्रकार कें परिजनो को 5-5 लाख रुपए मुआवजा देने की घोषणा किया हैं । हमारी मांग हैं की मुआवजा की राशि बढाई जाये औऱ यह राशि बाद मेँ भी मिले पहले हत्यारों की गिरफ्तारी हो ताकी देश मेँ यह संदेश जाये की युपी सरकार पत्रकारों कें हितों की रक्षा कर रहीं हैं । स्थानीय लोगों कें प्रदर्शन मेँ खुलकर पुलिस पर आरोप लगे हैं की वो पत्रकार द्वारा सुरक्षा की मांग पर ध्यान नही दिया औऱ शराव माफियाओं को संरक्षण दें रहीं हैं ।श्री विद्रोही नें कहा हैं की पत्रकार उत्पीड़न रोकना राज्य सरकारो की काम हैं , इसके लिय पत्रकार सुरक्षा कानून बनाकर पत्रकारों कें मामले को निबटाने कें लिय अलग से सेल बनाई जानी चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *